गाजियाबाद । टीवी रियलटी शो ‘कौन बनेगा करोड़पति’ (केबीसी) में भाग लेने के नाम पर गाजियाबाद की एक महिला से  बदमाशों ने 25 लाख की लॉटरी लगने का झांसा दिया और दो बार में 37 हजार रुपये ठग लिए। इंदिरापुरम के कनावनी इलाके में रहने वाली प्रीति नाम की महिला के वॉट्सऐप पर वीडियो मेसेज आया था। उसमें केबीसी की धुन और बैकग्राउंड में इससे जुड़े वॉलपेपर चल रहे थे। इस मेसेज में 25 लाख की लॉटरी लगने की सूचना दी गई थी और एक नंबर भी दिया गया था। मेसेज में कहा गया था कि इस नंबर पर तुरंत कॉल करें। झांसे में आई महिला ने दिए गए नंबर पर फोन किया। दूसरी तरफ से फोन उठाने वाले ने खुद को केबीसी का अधिकारी बताया और महिला से कहा कि पहले मेंबर बनना होगा। इसके लिए 12 हजार रुपये जमा कराने होंगे। महिला ने 12 हजार जमा करा दिए। इसके बाद लॉटरी प्रॉसेस करने के नाम पर 25 हजार मांगे गए। पीड़िता ने आस-पास के लोगों से उधार लेकर 25 हजार रुपये जमा कराए। रुपये जमा कराने के बाद ठगों का नंबर बंद हो गया। इसके बाद महिला ने इंदिरापुरम थाने में शिकायत दी है। एसएचओ संदीप सिंह ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।
कनावनी निवासी प्रीति अपने पति सचिन कुमार के साथ रहती हैं। सचिन आस-पास की सोसायटियों में गाड़ी साफ करने का काम करता है। 26 जून को प्रीति के वॉट्सऐप पर एक वीडियो मेसेज आया, जिसमें केबीसी की धुन और बैकग्राउंड में केबीसी के वॉलपेपर और अन्य वॉलपेपर बार-बार बदल रहे थे। मेसेज में 25 लाख रुपये की लॉटरी लगने की जानकारी दी जा रही थी। फोन यूजर को मेसेज पर दिए गए नंबर पर फोन करने का निर्देश दिया गया था। पीड़िता ने दिए गए नंबर पर फोन किया, जिस व्यक्ति ने फोन उठाया उसने खुद को केबीसी का अधिकारी बताया और केबीसी का सदस्य बनने के लिए 12 हजार रुपये जमा कराने को कहा। 12 हजार रुपये जमा करने के बाद उन्हें 25 लाख रुपये की लॉटरी को प्रॉसेस करने के लिए 25 हजार रुपये और जमा कराने का कहा गया। पीड़िता ने आस-पास के लोगों से उधार लेकर ठग के अकाउंट में 25 हजार रुपये जमा करा दिए। रुपये जमा कराने के बाद से दिया गया नंबर बंद आने लगा है, जिसके बाद पीड़िता को ठगी का अहसास हुआ। पीड़िता ने शनिवार को इंदिरापुरम थाने में मामले की शिकायत दी है। वहीं, पुलिस ने पीड़िता से शिकायत लिखित में मांगी है, जिससे वह मामले की जांच शुरू कर सके।