गाजियाबाद । आतंकवादी संगठन लश्करे तैयबा का आतंकी और बम एक्सपर्ट अब्दुल करीम टुंडा को ऑपरेशन के लिए गाजियाबाद के एमएमजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आतंकवादी टुंडा को अस्पताल के निजी वॉर्ड में रखा गया है। अस्पताल में आतंकवादी के भर्ती होने की खबर फैलने के बाद से दिनभर यहां आने वाले मरीजों और तीमारदारों के बीच भी टुंडा के भर्ती होने की चर्चा होती रही। आतंकवादी टुंडा को दोनों आंखों में मोतियाबिंद होने के कारण जिला एमएमजी अस्पताल में जांच के लिए लाया जा रहा था। लेकिन हर बार डॉक्टर उच्च रक्तचाप के कारण उसका ऑपरेशन टाल रहे थे। मंगलवार को अचानक सीने और पेट में दर्द के कारण कड़ी सुरक्षा में उसे एमएमजी अस्पताल की इमरजेंसी में लाया गया। इसके बाद उसे अस्पताल के निजी वॉर्ड में भर्ती किया गया।
अस्पताल के नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. मदन लाल ने बताया कि आतंकवादी टुंडा की दोनों आंखों में मोतियाबिंद है। उसे ऑपरेशन के लिए भर्ती किया गया है। अगर उसका रक्तचाप बढ़ा नहीं तो जल्दी ही उसका ऑपरेशन कर दिया जाएगा। वहीं, हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. सुनील कात्याल ने बताया कि उसे सीने में भी दर्द की शिकायत थी, लेकिन जांच में सब सामान्य ही पाया गया है। अस्पताल के सीएमएस डॉ. रविंद्र राणा का कहना है कि टुंडा को हार्निया भी है। एमएमजी में सिर्फ उसकी आंखों का ऑपरेशन किया जाएगा। अन्य बीमारियों के इलाज के लिए उसे दूसरे अस्पताल रेफर किया जाएगा। उसे सभी मरीजों से दूर निजी वॉर्ड में भर्ती किया गया है। उसके वॉर्ड में डॉक्टर, नर्स और पुलिस बल के अलावा किसी को भी जाने की इजाजत नहीं है।